गुरूवार, जून 13, 2024

गांवों को उत्पादन का केंद्र बनाने के लिए खोले गए हैं रूरल इंडस्ट्रियल पार्क: प्रदीप शर्मा

Must Read

मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री शर्मा ने कापूबहरा में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क का किया निरीक्षण: रीपा केंद्र के संचालन को लेकर महिला समूहों से की चर्चा, अधिकारियों को दिए निर्देश

कोरबा (आदिनिवासी)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सलाहकार, योजना, नीति, कृषि एवं ग्रामीण विकास प्रदीप शर्मा जिले के प्रवास पर रहे। इस दौरान वे सुबह 10 बजे विकासखण्ड पोड़ी-उपरोड़ा स्थित ग्राम पंचायत कापूबहरा के महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क (रीपा) का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के दौरान पाली तानाखार के विधायक मोहित राम केरकेट्टा, कलेक्टर संजीव झा भी उपस्थित रहे।

प्रदीप शर्मा ने रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में संचालित मसाला निर्माण इकाई, पोल्ट्री फीड, कपूर निर्माण इकाई, दोना-पत्तल निर्माण, अगरबत्ती निर्माण व अन्य इकाईयों का अवलोकन किया। श्री शर्मा ने कापूबहरा रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में महिला समूहों के सहयोग से संचालित कार्य की प्रशंसा की और आगे भी बेहतर ढंग से कार्य करने के लिए प्रेरित किया। श्री शर्मा ने महिला समूहों से चर्चा की और रीपा केंद्र में चल रहे काम के बारे में जानकारी ली। श्री शर्मा ने महिला समूहों को रीपा केंद्र से जुड़ने के बाद यहां किए जा रहे उत्पादन, आमदनी व अन्य विषयों पर चर्चा की।

उन्होंने महिला समूहों को स्थानीय वनोपज, कृषि आधारित उत्पाद से जुड़े व्यवसायों को महत्व देने गोल्डन लाख प्रसंस्करण को भी उद्योग के रूप में अपनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में औद्योगिक गतिविधियों के संचालन के साथ ही यहां कार्य से जुड़ी महिला समूहों और युवाओं के उत्साह के लिए विभिन्न कार्यक्रम भी आयोजित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कापूबहरा रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के निरीक्षण पर पहुंचे श्री प्रदीप शर्मा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप शासन प्रदेश में गांवो को उत्पादन का केंद्र बनाने के लिए काम कर रही है।

जिले की आवश्यकताओं को ग्रामीण क्षेत्र में संचालित औद्योगिक इकाईयों की मदद से ही पूरा किया जा सकेगा। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे-छोटे औद्योगिक पार्क खोले गए हैं। जिसका संचालन युवाओं, महिला समूहों के सहयोग से किया जा रहा है। इसमें गांव के बुजुर्गों के अनुभव व ज्ञान के आधार पर भी परंपरागत व्यवसाय को बढ़ावा देने की कोशिश हो रही है। शहर की जरूरतों को स्थानीय ग्रामीण उद्योगों से पूरा किया जा सकता है। इससे रोजगार का सृजन भी होगा और अर्थव्यवस्था में प्रगति भी आएगी।

कापूबहरा जंगलों से घिरा गांव है जहां औद्योगिक पार्क स्थापित कर काम की शुरूआत की गई है। इसके लिए शासन की ओर से शेड बनाकर दिया गया है। आधारभूत संरचना विकसित करने के साथ ही सस्ते दर पर बिजली की उपलब्धता, बैंक से लोन में सहयोग सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। आने वाले दिनों में कापूबहरा का रीपा केंद्र एक बड़े ग्रामीण औद्योगिक केंद्र के रूप में विकसित होगा। निरीक्षण के दौरान मदरसा बोर्ड के सदस्य डॉ. शेख इश्तियाक, जिला पंचायत के सीईओ नूतन कंवर अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

जिला प्रशासन के दिशानिर्देश पर बालको ने कराया छात्रों को शैक्षणिक भ्रमण

बालकोनगर (आदिनिवासी)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने जिला प्रशासन के दिशा निर्देशानुसार अपने संयंत्र परिसर...

More Articles Like This