मंगलवार, जून 25, 2024

होम वोटिंग कर उम्रदराज और दिव्यांगजनों ने सशक्त लोकतंत्र निर्माण में निभाई सहभागिता

Must Read

कोरबा (आदिनिवासी)। शारीरिक असमर्थता तथा अति वृद्धावस्था के कारण बूथ तक पहुंचकर मतदान करने में असमर्थ लोगों ने होम वोटिंग के जरिये अपने मताधिकार का उपयोग किया और लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागीदारी दी। अनुपस्थित श्रेणी के अन्तर्गत आने वाले 85 वर्ष से अधिक आयु एवं दिव्यांगजनों ने अपने घर पर ही मतदान किया। उन्होंने निर्वाचन आयोग की इस सुविधा पर खुशी जताई।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा देश के हर एक नागरिक को मतदान में शामिल होने एवं  लोकतांत्रिक प्रक्रिया में उनकी सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करने हेतु  होम वोटिंग की सुविधा प्रारंभ की गई है। जिसका लाभ शारीरिक असमर्थता एवं वृद्धावस्था के कारण मतदान केन्द्र तक पहुँच पाने में असमर्थ अनेक बुजुर्ग तथा दिव्यांग मतदाता को मिल रहा है एवं वे अपने घर पर ही अपने मताधिकार का प्रयोग आसानी से कर पा रहे हैं।

कोरबा संसदीय क्षे़त्र अंतर्गत जिले के कोरबा व रामपुर विधानसभाओं के चिन्हाकिंत बुजुर्ग एवं दिव्यांग मतदाताओं ने होम वोटिंग किया। होम वोटिंग कराने के लिए नियुक्त मतदान अधिकारी उनके घरों में पहुँचे। मतदान अधिकारियों को अपने घर में देखकर मतदाताओं सहित उनके परिजनों ने खुशी जाहिर की।

होम वोटिंग के माध्यम से लोकतंत्र के महापर्व में अपनी जिम्मेदारी निभाने का मिला मौका:- मतदाता हीरालाल

कोरबा के दुरपा बस्ती निवासी दिव्यांग हीरालाल विश्वकर्मा ने होम वोटिंग के माध्यम से अपना मताधिकार का उपयोग किया। उन्होंने कहा कि वोट देकर उन्हें बहुत खुशी
हो रही है। उन्हें होम वोटिंग के माध्यम से घर पर ही मतदान कर लोकतंत्र के महापर्व में अपनी जिम्मेदारी निभाने का मौका मिला। इस हेतु उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग और मतदान अधिकारियों का हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया।

होम वोटिंग की व्यवस्था से कोई भी मतदाता  मताधिकार के प्रयोग से नही होगा वंचित:- रामनारायण पटेल

बरमपुर के लकवाग्रस्त 65 वर्षीय रामनारायण पटेल ने आयोग की इस नई व्यवस्था को बहुत ही महत्वपूर्ण बताया। उन्होंनेे कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा शुरू किए गए इस नई व्यवस्था के फलस्वरूप अब देश का कोई भी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने से वंचित नही होगा।

रामपुर विधानसभा के ग्राम बिंझकोट के 88 वर्षीय बुजुर्ग मतदाता श्री मंगलराम का भी होम वोटिंग के जरिए मताधिकार का सपना साकार हुआ। मतदाता के बेटे ने कहा कि भारत निर्वाचन अयोग की इस अच्छी पहल के कारण उम्रदराज और दिव्यांग मतदाता अपने मताधिकार से वंचित होने से बच रहे हैं। उनके लिए यह सुविधा बहुत लाभकारी है। बिना परेशानी के वे घर पर ही वोट देकर  लोकतंत्र में अपनी भूमिका अच्छे से निभा रहे हैं।

हमें मतदान अवश्य करना चाहिए- बुधिया राम पटेल
रामपुर विधानसभा अन्तर्गत ग्राम चचिया के 86 वर्षीय बुधिया राम पटेल ने आज घर पर मतदान दलों की उपस्थिति में मतदान किया। मतदान के पश्चात खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा दिव्यांग और वरिष्ठ नागरिकों को घर पर मतदान की सुविधा देने बहुत ही अच्छी पहल है। हालाकि वे पहले मतदान केन्द्रों में मतदान करते थे।

उन्होंने बताया कि लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए हमें मतदान अवश्य करना चाहिये। मतदान के दिन कुछ लोग घर पर समय बिता देते हैं और मतदान नहीं करते वहीं लोग कई बार आरोप लगाते हैं कि अच्छा जनप्रतिनिधि नहीं चुन पाया गया है। ऐसे लोगों से अपील है कि वे अपने पसंद का उम्मीदवार अवश्य चुनें ताकि क्षेत्र का विकास हो।

इसी प्रकार जिले के कोरबा विधानसभा के अनुपस्थित श्रेणी के मतदाता  ग्राम दुल्लापुर की दिव्यांग मतदाता सावित्री बाई केंवट, ग्राम अगारखार निवासी श्यामलाल भारिया, खम्हरिया की सावित्री बाई यादव, स्याहीमुड़ी की भानुमति सहित अनेक शारीरिक रूप से अस्वस्थ मतदाताओं ने आसानी से अपने घर पर ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

पिछले विधानसभा निर्वाचन के दौरान भी होम वोटिंग के माध्यम से उन्हें निर्वाचन में भाग लेने का अवसर मिला था। यह सुविधा मिलने से बुजुर्ग व्यक्तियो को बहुत सहारा मिलता है। मतदाता एवं उनके परिजनों ने  निर्वाचन आयोग की इस व्यवस्था को अत्यंत कारगर एवं उपयोगी बताया एवं इस अभिनव पहल की सराहना करते हुए धन्यवाद दिया।

28 अप्रेल को विधानसभा कटघोरा तथा पाली-तानाखार क्षेत्र में होम वोटिंग कराई जाएगी। इसके लिए अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। होम वोटिंग की प्रक्रिया के दौरान अभ्यर्थी व अधिकृत प्रतिनिधि उपस्थित रह सकते हैं। होम वोटिंग से पूर्व मतदान दल के अधिकारियों-कर्मचारियों को निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान कराने के निर्देश दिए गए हैं।

गठित दल द्वारा चिन्हित मतदाताओं के घर पहुंचकर पूर्ण पारदर्शी प्रक्रिया के तहत मतदान की कार्यवाही संपन्न कराएंगे। इस दौरान मत की गोपनीयता और सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाएगा। मतदान प्रक्रिया की वीडियो रिकार्डिंग भी करायी जाएगी। यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी की मतदाता निर्भीक होकर स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से मतदान कर सके। प्राप्त मतों को सुरक्षा के बीच सुरक्षित स्थान पर रखा जाएगा।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

भारत की वीरांगना: महारानी दुर्गावती की 260वीं बलिदान दिवस पर संगोष्ठी

कोरबा (आदिनिवासी)। आदिवासी शक्ति पीठ, बुधवारी बाजार कोरबा में 24 जून को मध्य भारत के बावन गढ़ संतावन परगना...

More Articles Like This