गुरूवार, जून 13, 2024

Arya Samaj Marriages: घर से भाग कर आर्य समाज मंदिर में शादी करना मुश्किल या आसान? सुप्रीम कोर्ट के फैसले से होगा तय, जानिए क्या है पूरा मामला

Must Read

सुप्रीम कोर्ट ने आज मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के उस आदेश पर रोक लगा दी, जिसमें आर्य समाज मंदिर में शादी करना मुश्किल हो गया है. अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले में विस्तृत सुनवाई कर आदेश देगा. आमतौर पर लोग जब घर से भाग कर शादी करते हैं तो आर्य समाज मंदिर जाते हैं. वहां हिंदू रीति रिवाज से कोई भी हिंदू शादी कर सकता है. मंदिर से उन्हें शादी का सर्टिफिकेट भी मिल जाता है, जो अदालत में भी मान्य होता है.

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने क्या कहा?

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने ये फैसला दिया की आर्य समाज मंदिर को स्पेशल मैरिज एक्ट के प्रावधानों को मानना होगा. यानी शादी से पहले वर और वधू के माता पिता, संबंधित थाना और पांच दोस्तों या रिश्तेदार को सूचना देनी होगी. शादी से पहले दोनों परिवार को नोटिस भी भेजना होगा. आर्य समाज सभा ने हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. सभा का कहना है की हाई कोर्ट का फैसला हिंदू मैरिज एक्ट में दखल है.

दरअसल मध्य प्रदेश हाई कोर्ट की ग्वालियर पीठ ने बीते साल 17 दिसंबर को एकल पीठ के साल 2020 के 9 दिसंबर को दिए उस आदेश को सही ठहराया था, जिसमें शादी का प्रमाणपत्र केवल कानून में अधिकृत सक्षम अथॉरिटी ही जारी कर सकती है. जिसके बाद आर्य समाज संस्था के सेक्रेटरी मध्य भारत आर्य प्रतिनिधि सभा ने सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती दी है.


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

एक असुर जिसने आर्यों से अपने समाज की रक्षा की: महिषासुर

"गौरी लंकेश ने यह रिपोर्ट मूलरूप से अंग्रेजी में लिखी थी जो वेब पोर्टल "बैंगलोर मिरर" में 29 फरवरी,...

More Articles Like This