शुक्रवार, जून 14, 2024

दो साल बाद खुलेंगे बाबा बर्फानी के द्वार, इस दिन से शुरू होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, यहां जानें पूरा प्रोसेस

Must Read

अमरनाथ यात्रा 2022 (Amarnath Yatra 2022) के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस 11 अप्रैल से शुरू हो जाएगा. श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (Shri Amarnathji Shrine Board) के CEO नितीशवर कुमार (Nitishwar Kumar) ने इसकी जानकारी दी है. नितीशवर कुमार ने बताया कि कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) की वजह से दो साल से बंद पड़ी वार्षिक अमरनाथ यात्रा 2022 (Amarnath Yatra) 30 जून को शुरू होने वाली है. बाबा बर्फानी की ये यात्रा 11 अगस्त को समाप्त होगी. कुमार ने यह भी बताया कि अमरनाथ यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन (Amarnath Yatra registration) इसी महीने 11 अप्रैल से शुरू होगा.

बोर्ड के अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ‘अमरनाथ यात्रा 2022 30 जून से शुरू होगी और 11 अगस्त को समाप्त होगी. रजिस्ट्रेशन 11 अप्रैल से शुरू हो जाएगा. तीर्थयात्री श्राइन बोर्ड की वेबसाइट और मोबाइल ऐप के माध्यम से भी ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं.’ उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के रामबन जिले (Ramban district) में श्रद्धालुओं के लिए एक यात्री निवास बनाया गया है. इस यात्री निवास में 3000 तीर्थयात्रियों के बैठने की क्षमता है. बोर्ड को उम्मीद है कि इस साल बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए मंदिर में औसतन तीन लाख से अधिक तीर्थयात्री पहुंच सकते हैं.

 

CEO नितीशवर कुमार ने कहा, ‘यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन 11 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर बैंक, पीएनबी बैंक, यस बैंक की 446 ब्रांचों और देशभर में एसबीआई बैंक की 100 ब्रांचों में शुरू होगा. हम तीन लाख से अधिक तीर्थयात्रियों के आने की उम्मीद है. रामबन में एक यात्री निवास ने बनाया गया है जिसमें 3000 तीर्थयात्री बैठ सकते हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘तीर्थयात्रियों को RFID दिया जाएगा जिससे श्राइन बोर्ड तीर्थयात्रियों को ट्रैक कर पाएगा. टट्टू को चलाने वाले लोगों के लिए बीमा कवरेज अवधि को बढ़ाकर एक साल कर दिया गया है. वहीं, तीर्थयात्रियों के लिए बीमा कवर इस साल 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख कर दिया गया है.’

 


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

एक असुर जिसने आर्यों से अपने समाज की रक्षा की: महिषासुर

"गौरी लंकेश ने यह रिपोर्ट मूलरूप से अंग्रेजी में लिखी थी जो वेब पोर्टल "बैंगलोर मिरर" में 29 फरवरी,...

More Articles Like This