रविवार, जून 16, 2024

UP: MBBS की क्लास में देवी-देवताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्‍पणी करने पर AMU प्रोफेसर निलंबित, BJP नेता ने दर्ज कराई FIR

Must Read

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) एक बार फिर विवादों में घिर गई है. यहां के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में फॉरेंसिक मेडिसिन डिपार्टमेंट के एक असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ जितेन्द्र कुमार पर MBBS की क्लास में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा है. इसके बाद एएमयू प्रशासन ने प्रोफेसर को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. नोटिस के बाद संबंधित प्रोफेसर ने एएमयू कुलपति को माफीनामा दे दिया है. मामले को गंभीरता से लेते हुए एएमयू इंतजामिया ने जांच कमेटी गठित कर दी है. इसके साथ ही जांच पूरी होने तक सेवा से निलंबित कर दिया है. उधर, बीजेपी नेता निशित शार्म ने भी इस पर आपत्ति जताते हुए प्रोफेसर के खिलाफ थाना सिविल लाइन में FIR दर्ज कराई है.

दरअसल, अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर के MBBS की क्लास में एक प्रजेंटेशन में हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक बातें लिखी. जिसे एमबीबीएस की क्लास में पेश कर दिया. वहीं, स्लाइड की तस्वीरें किसी शख्स ने यूपी पुलिस को टैग करते हुए सोशल मीडिया जारी कर दिया. साथ ही लिखा कि ये असिस्टेंट प्रोफेसर जितेंद्र कुमार की फॉरेंसिक मेडिसिन MBBS क्लास से है. यूपी पुलिस इनकी सेवा तुरंत प्रभाव से की जाए. इसके साथ ही उन्होंने प्रोफेसर द्वारा कही गई सभी विवादित बातों का भी जिक्र किया.

यूनिवर्सिटी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

वहीं, एएमयू के जनसंपर्क अधिकारी उमर पीरजादा ने बताया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी इसकी भर्त्सना करती है. इसके साथ ही आरोपी डॉ के खिलाफ एएमयू की तरफ से धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है. 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा गया है. इसके साथ ही 2 सदस्य कमेटी बनाई गई है, जिसका डीन फैकल्टी ऑफ राकेश भार्गव को बनाया गया है. डॉ जितेंद्र कुमार ने अनकंडीशनल गलती स्वीकार की है. हमारे जीरो टॉलरेंस नीति है.

एएमयू ने डॉ. जितेंद्र कुमार निलंबित

फोरेंसिक मेडिसिन विभाग के असिसटेंट प्रोफेसर डा. जितेंद्र कुमार मामले में प्रथम दृष्टया मिस कंडक्ट और मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच पूरी होने तक सेवा से निलंबित कर दिया है. डॉ. कुमार को जारी कारण बताओ नोटिस के जवाब के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. उधर, प्रोफेसर ने इस पर माफी मांग ली है. बीजेपी नेता निशित शार्म ने भी इस पर आपत्ति जताते हुए प्रोफेसर के खिलाफ थाना सिविल लाइन में FIR दर्ज कराई है.


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

बालको विभिन्न पहल के माध्यम से सड़क सुरक्षा संस्कृति को दे रहा बढ़ावा

बालकोनगर (आदिनिवासी)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), कोरबा बल्क...

More Articles Like This