शुक्रवार, जून 21, 2024

कांग्रेस के जन अधिकार महारैली में आरक्षण का मामला फिर गरमाया

Must Read

रायपुर (आदिनिवासी)। छत्तीसगढ़ में नए साल के साथ साथ चुनावी साल ने भी कदम रख दिया है। नए साल की शुरूआत के साथ कांग्रेस ने भी अपनी शक्ति दिखाना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में आज कांग्रेस ने पहली बार प्रदेशभर में जन अधिकार महारैली निकाली। रैली में प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल हुए। इसी दौरान मुख्य मंत्री का बयान सामने आया है।

जन अधिकार महारैली को संबोधित करते हुए सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि साल और महीना बदला लेकिन हस्ताक्षर नहीं हुआ। राज्यपाल ने आरक्षण विधेयक पर हस्ताक्षर नहीं किया। वे आरक्षण के मुद्दे पर केवल राजनीति कर रही हैं। मुख्य मंत्री ने कहा आरक्षण के मुद्दे को हम जन-जन तक बताएंगे। केंद्र सरकार कई मुद्दों पर अडंगा डाल रही है। मुख्य मंत्री भूपेश बघेल ने कहा न डरेंगे,न झुकेंगे।

ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ में 76 प्रतिशत आरक्षण संशोधन विधेयक पर राज्यपाल ने अब तक हस्ताक्षर नहीं किया है। इसके विरोध में कांग्रेस ने आज रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में जनाधिकार महारैली का आयोजन किया। इस दौरान अधिकांश मंत्री और विधायकों समेत प्रदेशभर से पहुंचे हजारों कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

आरक्षण बिल रोके जाने के खिलाफ मंगलवार को कांग्रेस की रैली में हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस मौके पर वक्ताओं ने आरक्षण को लेकर भाजपा को जमकर कोसा। सीएम भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी शैलजा और सरकार के मंत्रियों व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने बिल पर हस्ताक्षर न होने पर सवाल उठाए।

कांग्रेस विधायक संतराम नेताम आदिवासी नेता विधायक ने कहा कि केंद्र सरकार के कथनी और करनी में अंतर है। आदिवासियों को बरगलाने का काम किया। आदिवासियों का आरक्षण 32 से आज 20 कर दिया गया है।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

कोरबा में उचित मूल्य दुकान की जाँच: खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने का प्रयास

कोरबा (आदिनिवासी)। कलेक्टर अजीत वसंत के निर्देश पर विकासखंड पाली के चैतमा में स्थित आदिम जाति सेवा सहकारी समिति...

More Articles Like This