रविवार, जून 16, 2024

रात के अंधेरे में एसईसीएल ने चलाया ग्रामीणों के मकानों पर बुलडोजर

Must Read

आश्वासन एवं बिलासपुर के अफसरों के निर्देश के बावजूद भी प्रबंधन मुआवजा देने में कर रही है टालमटोल -UBKKS

कोरबा/दीपका (आदिनिवासी)। पाली विकासखंड अंतर्गत हरदीबाजार तहसील ग्राम अमगांव के आश्रित मोहल्ला जोकाही डबरीपारा के 111 प्रभावित परिवारों के मकान, कुआं बाड़ी आदि परिसंपत्तियों की मुआवजा की मांग को लेकर ग्रामीणों ने कुछ दिन पहले अमगांव फेस के खनन कार्य को बाधित कर जूता पॉलिश की दुकान लगाकर मुआवजा की मांग किया गया था।मामले की गंभीरता को देखते हुए एसईसीएल बिलासपुर के अधिकारी और दीपका गेवरा प्रबंधन के अधिकारी आंदोलन स्थल पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को मुआवजा की भुगतान को जल्द सुलझा दिया जाएगा करके आश्वासन दिया गया था लेकिन एसईसीएल के दीपका गेवरा के प्रबंधन मुआवजे को लेकर टालमटोल किया जा रहा है रात के अंधेरे में प्रबंधन के द्वारा ग्रामीणों के खड़े मकान को बुलडोजर चलवा कर तुड़वा दिया गया जिससे ग्रामीणों में आक्रोश भड़क उठा है और अपनी मकान कुआं बाड़ी आदि परिसंपत्तियों की मुआवजा को लेकर ग्रामीण मकान निर्माण कर परिसंपत्तियों की मुआवजा की मांग कर रहे हैं ।

ग्रामीणों का कहना है कि 17 एवं 18 दिसंबर को अपनी मकान कुआ बाड़ी आदि परिसंपत्तियों का मुआवजा भुगतान की मांग को लेकर एसईसीएल दीपका के अमगांव फेस के खनन कार्य को रोका गया था आश्रित परिवारों की प्रदर्शन को देखते हुए एसईसीएल के बिलासपुर के अधिकारी आंदोलन स्थल पहुंचकर दीपका गेवरा के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए परिसंपत्तियों की मुआवजा को जल्द सुलझा कर भुगतान करें इस पर दीपका गेवरा के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारी ग्रामीणों को आश्वस्त किया था कि तहसील में जाकर जल्द ही मुआवजा को सुलझा लिया जाएगा और भुगतान भी बहुत जल्द किया जाएगा लेकिन प्रबंधन के द्वारा प्रभावितों के खड़े मकान को रात के अंधेरे में बुलडोजर चलवा कर तुड़वा दिया गया प्रभावित ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है एसईसीएल के वादाखिलाफी के विरोध में निर्मित मकान स्थल पर मकान का निर्माण कर अपनी मुआबजा की मांग करना शुरू हो गया है ।

वही ऊर्जाधानी संगठन के गेवरा क्षेत्रीय अध्यक्ष दीपक यादव ने कहा कि इन परिवारों ने लंबे समय से अपनी परिसंपत्तियों की जायज मुआवजा को लेकर संघर्ष कर रहे हैं लेकिन एसईसीएल प्रबंधन के वादाखिलाफी तानाशाही रवैया से थक चुके हैं हमेशा की तरह एसईसीएल के अधिकारी ग्रामीणों को आश्वासन की झुनझुना थमाते आए हैं अब अधिकारियों की वादाखिलाफी व तानाशाही रवैया को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा छोटे वर्ग के 111 आश्रित परिवारों के मकान कुआं बाड़ी आदि परिसंपत्तियों का मुआवजा की जायज मांग की भुगतान पर विशेष ध्यान नहीं दिया जाएगा धरना प्रदर्शन आंदोलन शुरू किया जाएगा जिसका जिम्मेदार एसईसीएल प्रबंधन की होगी ।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

बालको विभिन्न पहल के माध्यम से सड़क सुरक्षा संस्कृति को दे रहा बढ़ावा

बालकोनगर (आदिनिवासी)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), कोरबा बल्क...

More Articles Like This