रविवार, जून 16, 2024

पुलिस वाले ड्रोन में कैमरे लगा कर नदियों और तालाबों में नहाती हुई आदिवासी लड़कियों, औरतों के वीडियो बनाते हैं: आदिवासियों ने किया आपत्ति

Must Read

पुलिस द्वारा आदिवासियों पर हमले

छत्तीसगढ़ (आदिनिवासी)। छत्तीसगढ़ के भैरमगढ़ में पुलिस ने आदिवासियों को अपनी बात नहीं कहने दी।

पुलिस ने आदिवासियों पर लाठियों से हमला किया।

आदिवासी राष्ट्रपति के नाम आवेदन बना कर लाए थे जिसे वे तहसीलदार की मार्फत भेजना चाहते थे।

पुलिस वाले ड्रोन में कैमरे लगा कर नदियों और तालाबों में नहाती हुई निवस्त्र आदिवासी लड़कियों औरतों के वीडियो बनाते हैं।

आदिवासी इसे रोकने की मांग कर रहे थे।

भागते हुए आदिवासियों को पत्रकारों ने रोका और तहसीलदार को बुलवाया और ज्ञापन दिया।

असली लड़ाई क्या है ?

भगत सिंह ने कहा था संसाधनों और श्रम की लूट के लिए एक युद्ध जारी है तथा यह युद्ध अंग्रेजों के जाने के बाद भी जारी रहेगा।

यह युद्ध तब तक चलेगा जब तक इसमें मेहनतकश जनता की जीत नहीं हो जाती।

इसमें एक तरफ पूंजीपतियों के लिए लड़ने वाली सरकारी सेनाएं हैं।

दूसरी तरफ आम जनता है।

गांधी ने कहा था अगर भारत अंग्रेजी विकास का माडल अपनाएगा तो एक दिन वह अपने ही गावों पर हमला करेगा।

इस विकास के माडल से युद्ध ही निकलेगा।

वह युद्ध जारी है।

आदिवासी इलाकों में इसे साफ साफ देखा जा सकता है। और देखने वाली बात तो यह है कि छत्तीसगढ़ के आदिवासी समाज के सत्ता पक्ष और विपक्ष के तथा विभिन्न आदिवासी संगठनों के धुरंधर नेता इस अति संवेदनशील तथा शर्मनाक मुद्दे पर क्या एक्शन लेते हैं।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

बालको विभिन्न पहल के माध्यम से सड़क सुरक्षा संस्कृति को दे रहा बढ़ावा

बालकोनगर (आदिनिवासी)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), कोरबा बल्क...

More Articles Like This