मंगलवार, जून 25, 2024

हरदीबाजार व पाली के विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों में कार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के रिक्त पदों पर भर्ती हेतु दावा आपत्ति आमंत्रित

Must Read

अभ्यर्थी 25 सितंबर तक कर सकते हैं दावा-आपत्ति

कोरबा (आदिनिवासी)। छत्तीसगढ़ शासन महिला बाल विकास मंत्रालय रायपुर के निर्देशानुसार जिले के एकीकृत बाल विकास परियोजना हरदीबाजार एवं पाली के विभिन्न आंगनबाड़ीयों में कार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के रिक्त पदों पर नियुक्ति हेतु अभ्यर्थियों से आवेदन आमंत्रित किए गए थे। जिसके अंतर्गत एकीकृत बाल विकास परियोजना हरदीबाजार के आंगनबाड़ी केंद्र खलारीपारा में मिनी कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी केंद्र बनखेतापारा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं छुईहापारा, अमलीपारा में सहायिकाओं के रिक्त पद में नियुक्ति हेतु आवेदन मंगाए गए थे। इसी प्रकार एकीकृत बाल विकास परियोजना पाली के आंगनबाड़ी केंद्र आवासपारा, मुढ़ाली, झोरकीपारा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, साजापारा, मरईखोली, शंकरनार, दादर, छपराहीपारा, खैराबहार, नगोई, रतखण्डी, काचरमार, कोइलाभट्ठा, सरस्वतीपारा, सगुना, लीमपानी, गोड़पारा, जमनीपारा में सहायिकाओं के पद हेतु आवेदन मंगाया गया था।
परियोजना अधिकारी एकीकृत बाल विकास परियोजना ने बताया कि उपरोक्त आंगनबाड़ी केंद्रों में रिक्त पदों में भर्ती हेतु प्राप्त आवेदनों का मूल्यांकन समिति द्वारा सत्यापन कर अनंतिम सूची तैयार की गई है। उन्होंने बताया कि उक्त अनंतिम सूची के संबंध में अभ्यर्थियों से 15 सितंबर से 25 सितंबर 2023 तक दावा-आपत्ति मंगाया गया है। अभ्यर्थी संबंधित एकीकृत बाल विकास परियोजना हरदीबाजार एवं पाली कार्यालय में सम्पूर्ण साक्ष्य सहित निर्धारित तिथि के कार्यालयीन समय तक अपना दावा-आपत्ति प्रस्तुत कर सकते हैं। नियत तिथि पश्चात् प्राप्त दावा-आपत्ति मान्य नहीं किया जाएगा। साथ ही आवेदन जमा करने के अंतिम तिथि के पश्चात् दावा-आपत्ति समयावधि में प्रस्तुत दस्तावेजों को नवीन दस्तावेज मानते हुए अंको के लिए अमान्य किया जाएगा।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

भारत की वीरांगना: महारानी दुर्गावती की 260वीं बलिदान दिवस पर संगोष्ठी

कोरबा (आदिनिवासी)। आदिवासी शक्ति पीठ, बुधवारी बाजार कोरबा में 24 जून को मध्य भारत के बावन गढ़ संतावन परगना...

More Articles Like This