शुक्रवार, जून 14, 2024

धान उपार्जन केंद्र में बड़ा घोटाला: दो ट्रकों से 1900 बोरी धान की हुई जप्ती, जांच जारी

Must Read

रायगढ़। जिले के धरमजयगढ़ अनुभाग के धान उपार्जन केन्द्र सिसरिंगा में आज संयुक्त जांच दल राजस्व, खाद्य, सहकारिता, बैंक, मंडी विभाग धरमजयगढ़ के द्वारा एवं स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा रोके गये 2 ट्रक लोडमय धान की जांच की गई। गाड़ी नंबर यूपी-21, सीएन 7070 एवं यूपी-21 डीटी 3930 में अवैध रूप से धान उपार्जन केन्द्र सिसरिंगा में खाली होने आये धान बोरे सहित ट्रक को पकड़ा गया।

उक्त ट्रकों में लोडमय धान बोरे 1900 बोरी (40 किलोग्राम प्रति बोरी) वजन 760 क्विंटल में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति काडरो जिला-जशपुर का स्टेंसिल लगा पाया गया। जो 21 जनवरी को मॉ कमला राईस मिल के द्वारा उक्त धान का उठाव किया गया था। जिसकी पुष्टि रायपुर से प्राप्त ऑनलाईन रिपोर्ट एवं एवं काडरो समिति जिला जशपुर के जावक पंजी से की गई।
खाद्य अधिकारी, रायगढ़ ने जानकारी देते हुए बताया कि धान उपार्जन केन्द्र सिसरिंगा खरीदी केन्द्र प्रभारी डाटा एण्ट्री आपरेटर पुरूषोत्तम दास महंत द्वारा बताया गया कि उक्त दोनों ट्रक में लोड धान का परिदान किया जा रहा था किन्तु खरीदी प्रभारी का बयान एवं जांच में पाये गये तथ्य अनुसार उक्त दोनों ट्रकों का धान आदिम जाति सेवा सहकारी समिति काडरो जिला जशपुर का पाया गया जो मां कमला राईस मिल में ना जाकर आदिम जाति सेवा सहकारी समिति सिसरिंगा में खाली करने के उद्देश्य से लाया गया था। उक्त दोनों ट्रकों को जप्तशुदा लोडमय धान 1900 बोरी वजन 760.00 क्विंटल धान जप्त कर धरमजयगढ़ थाना के अभिरक्षा में दिया गया है। विस्तृत जांच की कार्यवाही जारी है।


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

बिरसा की शहादत दिवस में जल-जंगल-जमीन पर कॉरपोरेट लूट के खिलाफ संघर्ष जारी रखने का लिया संकल्प

झारखंड (आदिनिवासी)। बरकाकाना क्षेत्र के अंबवा टांड स्थित बिरसा नगर में आदिवासी संघर्ष मोर्चा ने बिरसा मुंडा के शहादत...

More Articles Like This