शुक्रवार, जून 14, 2024

बंगाल की पंचायत गांव समिति ने जारी किया अजब फरमान, बिना सूचना के शादी करने पर लगेगा जुर्माना, मुस्लिमों को जमीन बेचने पर रोक

Must Read

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पूर्व मिदनापुर जिले के महिषादल की एक पंचायत ग्राम समिति ने एक अजब फतवा जारी किया है कि जिसमें घर में मांगलिक समारोह या श्राद्ध, हर बात की जानकारी पंचायत ग्राम समिति (Panchayat Gram Samity) को देनी होगी. इसके साथ ही यदि अगर कोई लड़की घर से भाग जाती है या लड़का परिवार की सहमति के बिना शादी करता है, तो ग्राम समिति को जुर्माना देना होगा. साथ ही गांव में कोई मुस्लिम (Muslims) को जमीन नहीं बेच सकता. कोई भी समस्या होने पर पहले ग्राम पंचायत समिति के पास शिकायत करनी होगी.. थाना या प्रशासन के पास जाने पर मनाही की गयी है. पंचायत ग्राम कमेटी के इस 12 सूत्री फरमान को गांव के घर-घर में वितरित किया जा रहा है. इससे इलाके में विवाद पैदा हो गया है.

बांग्ला समाचार पत्र आनंदबाजार पत्रिका में प्रकाशित खबर के अनुसार बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले के नंदीग्राम के महिषादल ब्लॉक के चकदबारीबेरा गांव के बुजुर्गों की कमेटी ने 12 सूत्री फतवा जारी किया है और इसे गांव के सभी लोगों को पालन करने का निर्देश दिया गया है. इसका पालन नहीं करने पर जुर्माना लगाया जाएगा.

 

स्थानीय सूत्रों के अनुसार महिषादल पंचायत के चकद्वारीबेरा गांव में कई दिनों से ग्राम समिति सीलबंद लिफाफों में पर्चे बांट रही है. बताया गया है कि ग्राम सभाओं में घर-घर जाकर प्रतिनिधित्व करना अनिवार्य है. नहीं तो 20 रुपये जुर्माना देना होगा. परिवार या पड़ोसियों के साथ विवाद को ग्राम समिति के संज्ञान में लाना होगा और वहां ही समाधान करना होगा. यदि इसका पालन नहीं किया गया है, तो इसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि साल 2019 में इस ग्राम पंचायत में तृणमूल सत्ता में आई थी. उन्होंने 13 में से 10 सीटों पर जीत हासिल की थी. बाकी तीन में बीजेपी ने जीत हासिल की. स्थानीय लोगों ने हाल ही में चुनी हुई पंचायत के समानांतर गांव में इस ग्राम समिति का गठन किया है. समिति के सचिव तृणमूल राज्य सरकार कर्मचारी महासंघ के नेता प्रणब दास हैं. हालांकि, उन्होंने कहा कि इस फरमान में ग्राम कमेटी के अध्यक्ष या सचिव का कहीं नाम नहीं है. मैंने इस घटना के बारे में सबसे पहले मीडिया से सुना. मुझे कुछ नहीं पता है.”

घर-घर पर्चे बांटकर गांववासियों को दी जा रही है जानकारी

चकद्वारीबेरा के पंचायत सदस्य भाजपा के स्वप्न दास ने हालांकि आरोप लगाया कि ग्राम समिति के सचिव और अध्यक्ष घर-घर पर्चे बांट रहे हैं. पूर्णेंदु मांझी ने कहा, ”मैं पता कर रहा हूं कि क्या भाजपा द्वारा कोई आरोप लगाया गया है.” हालांकि, तृणमूल इस तरह के फतवा जारी करने का समर्थन नहीं करती है. पार्टी के महिषादल ब्लॉक के अध्यक्ष और विधायक तिलक चक्रवर्ती के अनुसार, ”इन सभी मामलों की निगरानी करना प्रशासन की जिम्मेदारी है. इस तरह के पर्चे बिल्कुल नहीं बांटने चाहिए. मैं पूरे मामले की जानकारी हासिल कर रहा हैं.


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

एक असुर जिसने आर्यों से अपने समाज की रक्षा की: महिषासुर

"गौरी लंकेश ने यह रिपोर्ट मूलरूप से अंग्रेजी में लिखी थी जो वेब पोर्टल "बैंगलोर मिरर" में 29 फरवरी,...

More Articles Like This