मंगलवार, जून 25, 2024

उत्कर्ष- भविष्य की उड़ान: कैरियर मार्गदर्शन का हुआ आयोजन

Must Read

लक्ष्य निर्धारण कर सतत् प्रयास करें सफलता मिलेगी-कलेक्टर कार्तिकेया गोयल

कैरियर महत्वपूर्ण,भटकाव से बचे जितनी मेहनत करोगे आपका लक्ष्य उतना करीब होगा

सिविल सर्विसेस की तैयारी के लिए अपने बेसिक को करें स्ट्रांग, करें लगातार प्रेक्टिस-सीईओ श्री यादव

विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों ने विद्यार्थियों को दी कैरियर चुनने के टिप्स

रायगढ़ (आदिनिवासी)। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल के निर्देशन एवं सीईओ जिला पंचायत जितेन्द्र यादव के मार्गदर्शन में जिले में आयोजित समर कैम्प के दौरान आज नगर निगम ऑडिटोरियम में छात्रों की बेहतर भविष्य निर्माण के लिए कैरियर मार्गदर्शन कैंप के तहत ‘उत्कर्ष-भविष्य की उड़ान’ का आयोजन किया गया।  

कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने कहा कि कैरियर मार्गदर्शन कैंप का उद्देश्य विद्यार्थियों के कैरियर चुनाव को लेकर शंकाओ को दूर करना है ताकि वे अपना बेहतर कैरियर चुन सके। उन्होंने कहा कि यहां 9 वीं से 12वीं तक विद्यार्थी हैं, जिन्हें इस उम्र में विषय चयन को लेकर कन्फ्यूजन होती हैं। यही समय होता है कि वह अपना लक्ष्य निर्धारण करने के साथ ही एक दूसरा विकल्प तैयार रखें। आप जितना अधिक मेहनत और प्रयास करेंगे उतना ही अपने लक्ष्य के पास होंगे। किसी भी क्षेत्र में जाएं आप देश सेवा ही करेंगे।

आज के दौर में सभी क्षेत्र में नौकरी को लेकर काम्पीटिशन है। इसलिए आप भले ही एवरेज स्टूडेंट हो लेकिन आपकी कोशिश एवरेज नहीं होनी चाहिए। इस उम्र में भटकाव की स्थिति बनती है लेकिन आपको कैरियर के प्रति समर्पित होकर आत्मनियंत्रण रखना आवश्यक है। अभी आप जितनी मेहनत करेंगे उतना ही आपका भविष्य सुखमय में होगा।

सिविल सर्विसेज के लिए प्रतिदिन पढ़ाई करना अति आवश्यक है। सभी के पास उतना ही दिमाग होता है, जितना आपके पास है, बस उन्हें आप कितना शार्प करते हैं यह आप पर निर्भर करता है, इसके लिए आपको रेडियो में न्यूज सुने, न्यूज पेपर के संपादकीय पढ़े, अच्छे आर्टिकल पढ़े एवं एनसीआरटी की बुक पढ़े। उन्होंने कहा कि अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होकर मेहनत कर सफलता प्राप्त कर देश सेवा में योगदान दे।

सीईओ जिला पंचायत जितेन्द्र यादव ने कहा कि आप सपने तो बड़े देख रहे हैं लेकिन आप को अपने ज्ञान के आधार को मजबूत करना आवश्यक है। उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी के संबंध जानकारी देते हुए विद्यार्थियों को बताया कि इसमें अपने बेसिक को स्ट्रांग करें एवं लगातार प्रेक्टिस करें। उन्होंने कहा कि याद रखे किसी भी एग्जाम के लिए सिलेबस के आधार पर ही तैयारी की जाती है, इसके लिए आप पूर्व परीक्षाओं की प्रश्न पेपर की प्रैक्टिस भी कर सकते है। इसमें सफलता पाने के लिए आपकी लगन और मेहनत महत्वपूर्ण हैं।

ओपी जिंदल स्कूल पतरापाली के प्राचार्य आर.के.त्रिवेदी ने कहा कि अपना लक्ष्य बनाना इसलिए जरूरी है ताकि हम यह निर्धारित कर सकें कि हमें क्या करना है। उन्होंने कहा कि सक्सेस स्टोरी के साथ ही फेलियर स्टोरी भी पढऩा जरूरी है ताकि गलतियों से सीखे और बेहतर प्रयास कर सके। उन्होंने कहा कि लक्ष्य निर्धारण के साथ ही सेकेण्ड ऑप्शन भी रखें। प्राचार्य श्री त्रिवेदी ने कहा कि सफलता की कोई परिभाषा नहीं होती। लक्ष्य प्राप्ति के दौरान छोटी-छोटी सफलताएं भी बड़ी मायने रखती है। आपके लक्ष्य के बीच में आपकी गरीबी कभी रोडा नहीं बन सकती है, बस आपको अपनी प्रतिभा दिखानी होगी। इस दौरान उन्होंने मेन्टल, फिजिकल एवं डिजीटल मूल्य के साथ ही विभिन्न कोर्स की जानकारी दी।

सी.ओ.28 सीजी बटालियन कर्नल हेमन्त कुमार झा ने सैन्य सेवा के संबंध में अफसर रैंक एवं जवान भर्ती की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सैन्य सेवा हेतु अफसर भर्ती हेतु एनडीए के माध्यम से साल में दो बार चयन प्रक्रिया आयोजित की जाती है। जिसके माध्यम से युवा सैन्य सेवा में सम्मिलित हो सकते है।

मेडिकल कालेज से डॉ.त्रिभुवन साहू ने विद्यार्थियों को मार्गदर्शन देते हुए कहा कि इस सेवा में स्वप्रेरित होकर आये तो बेहतर होगा। इसके लिए नीट के माध्यम से प्रवेश ले सकते है। इसके लिए आपको कठिन परिश्रम एवं सतत् प्रयास करना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि मोबाइल से ज्ञान अर्जित करने से बेहतर है आप पुस्तकों से ज्ञान अर्जित करें। इससे आपको अधिक से अधिक ज्ञान प्राप्त होगा। ईएनटी विशेषज्ञ मेडिकल कालेज डॉ.जया साहू ने कहा कि हर घर में सोचते है कि उनके परिवार में कोई डॉक्टर बने, लेकिन आप में इसके लिए सीखने का जुनून और लक्ष्य के प्रति हट होना जरूरी है। चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में नीट के माध्यम से एमबीबीएस के अलावा और भी क्षेत्र मौजूद है, जहां चिकित्सा के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे सकते है। उन्होंने बीडीएस, बी फार्मा, बीपीटी, बीएएमएस, यूनानी, बीएससी नर्सिंग, माइक्रो बायलॉजी जैसे विभिन्न कोर्सों की जानकारी दी, जिसके माध्यम से विद्यार्थी चिकित्सा के क्षेत्र में अपना कैरियर चुन सके।

ओपीजेयू तराईमाल के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.दिप्ती शुक्ला ने इंजीनियरिंग क्षेत्र के संबंध में बताया कि कैरियर ऑप्शन बहुत है लेकिन हमारे लिए क्या सही है यह आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कैरियर चुनाव के दो आधार होते है जिसमें एक टैलेन्ट दूसरा एजुकेशन बेस्ड होता है। उन्होंने विषय चयन हेतु सेल्फ अस्सिमेन्ट के अनुसार अपना लक्ष्य तैयार कर मेहनत करने की बात कही।

इस दौरान लॉ कालेज के दिलीप मिश्रा ने कानूनी पाठ्यक्रम के संबंध में बताया कि इसमें भी भविष्य निर्माण हेतु अपार संभावनाएं है। जिसमें विभिन्न प्रकार के कोर्स मौजूद है। आप क्लेट के माध्यम से बेहतर यूनिवर्सिंटी में एडमिशन लेकर भविष्य बना सकते है। जिसके लिए आपको लगन, ईमानदारी के साथ कड़ी मेहनत करनी होगी।

पालीटेक्निक कालेज के जे.के.गवेल ने पालीटेक्निक एवं आईटीआई के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पालीटेक्निक, आईटीआई एवं इंजीनियरिंग के बीच की कड़ी है। रायगढ़ एक औद्योगिक क्षेत्र है, तो यहां इसकी अपार संभावनाएं है। कैम्पस सलेक्शन के माध्यम से हर साल सैकड़ों युवाओं को प्राईवेट सेक्टर में नौकरियां प्राप्त होती है। इसके लिए पीपीटी के माध्यम से प्रवेश ले सकते है। इस दौरान विद्यार्थियों एवं अभिभावकों ने कैरियर मार्गदर्शन से संबंधित प्रश्न पूछकर अपनी शंकाओं को दूर किया।

मौके पर प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों में करूणा कैवर्त, बबीता पटेल एवं कृष भारद्वाज को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर शिक्षा विभाग से डीईओ बी.बाखला, डीएमसी नरेन्द्र चौधरी, एपीसी भुवनेश्वर पटेल, एपीसी भूपेन्द्र पटेल, एपीसी आलोक स्वर्णकार, बीईओ आर.जाटवर एवं बीआरसी मनोज अग्रवाल उपस्थित रहे।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

भारत की वीरांगना: महारानी दुर्गावती की 260वीं बलिदान दिवस पर संगोष्ठी

कोरबा (आदिनिवासी)। आदिवासी शक्ति पीठ, बुधवारी बाजार कोरबा में 24 जून को मध्य भारत के बावन गढ़ संतावन परगना...

More Articles Like This