रविवार, जून 16, 2024

रेल कॉरिडोर प्रभावितों की हुई बैठक: मुआवजा मिलने के एक हफ्ते में ही घर खाली करने की नोटिस से बढ़ी चिंता, कहा बरसात तक दे मोहलत, जनचौपाल में करेंगे फरियाद

Must Read

कोरबा/दीपका (आदिनिवासी)। जून शनिवार को दीपका के कृष्णा नगर वार्ड नंबर सात में बस्तीवासियों ने बैठक आयोजित किया गया । बैठक में उनके परिसम्पतियों का मुआवजा दिलाने में ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण समिति का आभार व्यक्त किया । मुआवजा वितरण के एक सप्ताह में ही घर खाली करने की नोटिस जारी करने पर विरोध करते हुयी वरसात तक का समय की मांग किया गया है और इसे लेकर कलेक्टर जनदर्शन में फरियाद करने का निर्णय लिया गया है ।

गौरतलब है कि कृष्णानगर के कुछ लोंगो को उनके मकान और दूसरे परिसम्पतियों का मुआवजा नही दिया गया था जिसका ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण समिति के बैनर तले लंबे संघर्ष करने के बाद रेल कॉरिडोर से प्रभावित कृष्णा नगर दीपका के 16 परिवारों की मुआवजा का भुगतान कटघोरा के अनुविभागीय अधिकारी के निर्देश पर रेल प्रशासन को आखिरकार देना पड़ा । लेकिन मुआवजा राशि को बैंक खाते में हप्ता भर होने के बाद रेलवे व प्रशासन ने रह रहे मकानों को 15 दिनों में खाली करने के लिए नोटिस जारी किया है। जिससे उनकी चिंता बढ़ गयी है क्योंकि बरसात का मौसम आ ही चुका है और ऐसे स्थिति में वे कहां जाएंगे।

बस्तीवासियों ने बैठक में निर्णय लिया गया है कि कलेक्टर के जनचौपाल में पहुंचकर वर्षा ऋतु तक रह रहे मकानों को खाली नही करने के लिए जनचौपाल में गुहार लगाकर निवेदन करेंगे ।

बस्तीवासियों कहना है कि ऊर्जाधानी संगठन के बैनर तले साल भर के लंबे संघर्ष के बाद ही जिला प्रशासन के कटघोरा के अनुविभागीय अधिकारी के निर्देश पर रेलवे विभाग ने कृष्णा नगर दीपका के रेलवे से प्रभावित 16 परिवारों की मुआवजा का भुगतान किया गया है हफ्ता भर हो रहा n⁰ मुआवजा को ट्रांसफर कर प्रभावितों के बैंक खाते में डाला गया है एक हफ्ता मुआवजा भुगतान को ही हुआ है रेलवे व प्रशासन की ओर से रह रहे मकानों को खाली करने का नोटिस जारी कर दिया गया है बैठक में तय किया गया है कि मंगलवार कलेक्ट्रेट जनचौपाल में वर्षा ऋतु तक अपनी व्यवस्था करने का मोहलत दी जाए क्योंकि आषाढ़ लग चुका है बरसात के दिनों में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा ।

ऊर्जाधानी संगठन के अध्यक्ष सपुरन कुलदीप ने कहा है गरीब लोंगो को अपने रोजी रोटी के साथ जमीन मकान तक के लिए जूझना पड़ता है और विकास के नाम पर उनके आशियाने से हटा दिया जाता है उनकी जमापूंजी के नाम पर मकानों के मुआवजा देने में आनाकानी किया जाता है । और सामने बरसात के मौसम होने के बावजूद मकान खाली कराने की जोर जबरदस्ती का तरीका मानवीय दृष्टि से भी नाजायज है । जरूरत पड़ने पर इसका विरोध कार्यवाही की जाएगी ।

बैठक में ललित मही़लागें फुलेन्द्र सिंह विद्याधर शिवलाल साहू अशोक साहू गुरूवारीबाई, गीता,सुनीता, नेहादास, आराधना सोनी,पिंकी लता साहू, सीमा सोनी, दयाराम,बंशी, काशीनाथ, मणिशंकर साहू रोहित दास किशन सोनी चामु नाग दीपेश सोनी सहित बस्ती के अनेक लोग उपस्थित थे।


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

बालको विभिन्न पहल के माध्यम से सड़क सुरक्षा संस्कृति को दे रहा बढ़ावा

बालकोनगर (आदिनिवासी)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), कोरबा बल्क...

More Articles Like This