शुक्रवार, जून 14, 2024

कोरबा: वन अधिकार नहीं मिलने पर जिले के सरपंच प्रशासन के आयोजनों का करेंगे विरोध

Must Read

कोरबा (आदिनिवासी)। कोरबा जिले के जनपद पंचायत पोंड़ी-उपरोड़ा के सरपंचों एवं वन अधिकार समिति के पदाधिकारियों ने कलेक्टर कोरबा को संयुक्त रूप से लिखे पत्र में ग्रामीणों को अविलंब व्यक्तिगत वन अधिकार एवं सामुदायिक वन संसाधन अधिकार पत्र प्रदान करने के लिए अनुरोध करते हुए कहा है कि ग्राम पंचायत मोरगा, मदनपुर, पतुरियाडांड, गिधमुड़ी, खिरटी, अरसियां, केंदई, साखों और धजाक आदि ग्राम पंचायतों में व्यक्तिगत वन अधिकार दावा फॉर्म अनुमोदन के पश्चात खंड स्तरीय समिति को विधिवत्त रूप से जमा कर दिया गया है। जिसका आज तारीख तक व्यक्तिगत वन अधिकार पत्र वितरण नहीं किया गया है। इसके साथ ही उपरोक्त ग्राम पंचायतों के 16 ग्रामों के द्वारा वन अधिकार समिति के माध्यम से सामुदायिक वन संसाधन अधिकार हेतु प्रक्रिया पूर्ण करके खंड स्तरीय समिति में जमा किया जा चुका है। किंतु आज दिनांक तक सामुदायिक वन संसाधन अधिकार पत्र भी हमें प्रदान नहीं किया गया है।

उपरोक्त प्रशासनिक प्रक्रियाओं को पूर्ण किए जाने के बाद भी प्रशासन के द्वारा वन अधिकार पत्र प्रदान करने में अत्यंत विलंब होने के कारण समस्त ग्राम वासियों व जनप्रतिनिधियों में भारी असंतोष और आक्रोश व्याप्त है। इस कारण से आगामी 29 अगस्त 2023 को ग्राम पंचायत मोरगा में जिला प्रशासन के द्वारा आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर रखा गया है। जिसका वन अधिकार नहीं मिलने की स्थिति में उक्त प्रशासनिक आयोजन का हम पूर्ण रूप से विरोध करते हैं। तथा जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि आगामी शिविर के आयोजन से पूर्व ग्रामीण अंचल में व्यक्तिगत वन अधिकार एवं सामुदायिक वन अधिकार पत्र अविलंब प्रदान करें।


- Advertisement -
  • nimble technology
Latest News

बिरसा की शहादत दिवस में जल-जंगल-जमीन पर कॉरपोरेट लूट के खिलाफ संघर्ष जारी रखने का लिया संकल्प

झारखंड (आदिनिवासी)। बरकाकाना क्षेत्र के अंबवा टांड स्थित बिरसा नगर में आदिवासी संघर्ष मोर्चा ने बिरसा मुंडा के शहादत...

More Articles Like This