बुधवार, जून 26, 2024

लगातार 11वीं बार ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं, GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया

Must Read

गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) वित्त वर्ष 2022-23 की पहली मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी की बैठक (RBI MPC meeting) को लेकर जानकारी दी. यह कैलेंडर ईयर 2022 की दूसरी मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी बैठक है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने लगातार 11वीं बार रेपो रेट 4 फीसदी पर बरकरार रखने का फैसला किया है. रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी रखा गया है. गवर्नर दास ने कहा कि इकोनॉमी को अभी सपोर्ट की जरूरत है. ऐसे में मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी के सदस्यों ने मिलकर महत्वपूर्ण पॉलिसी रेट को बरकरार रखने का फैसला किया है. गवर्नर दास ने कहा कि इस समय इकोनॉमी के सामने डबल चुनौती है. महंगाई लगातार बढ़ रही है, जबकि ग्रोथ रेट लगातार घट रहा है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान घटा दिया है. गवर्नर दास ने कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 7.2 फीसदी कर दिया गया है. पहले यह अनुमान 7.8 फीसदी का था. वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में ग्रोथ का अनुमान 16.2 फीसदी, दूसरी तिमाही में 6.2 फीसदी, तीसरी तिमाही में 4.1 फीसदी और चौथी तिमाही में यह अनुमान 4 फीसदी रखा गया है.कच्चे तेल का अनुमान 100 डॉलर प्रति बैरल का रखा गया है. साथ ही वित्त वर्ष 2022-23 के लिए महंगाई का औसत अनुमान 5.7 फीसदी रखा गया है.


- Advertisement -
  • nimble technology
[td_block_social_counter facebook="https://www.facebook.com/Adiniwasi-112741374740789"]
Latest News

आदिवासी किसानों की जमीन पर संकट: राजस्व अधिकारियों की अनुपस्थिति से मुकदमा खतरे में

आदिवासी किसानों की जमीन पर गैर-आदिवासियों का दावा: राजस्व अधिकारियों की अदालत में अनुपस्थिति चिंता का विषय आंध्र प्रदेश (आदिनिवासी)।...

More Articles Like This